बॉयफ्रेंड को खुश करने वाली शायरी

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ अपने बॉयफ्रेंड को खुश करने वाली शायरी शेयर करने वाले है जिसको पढ़कर आपका bf बहुत ही ज्यादा खुश हो जायेगा.

अपने बॉयफ्रेंड को हमेशा खुश रखना एक अच्छी गर्लफ्रेंड की निशानी होती है. लेकिन प्यार में कभी कभी थोड़ी बहुत बहस भी हो जाती है लेकिन ये ओके है और ये सभी प्रेमी और प्रेमिका के बीच में होता है.

लेकिन अगर आप अपने बॉयफ्रेंड को सच्चे दिल से प्यार करती हो तो आपको उसको खुश करने की कोशिश जरुर करनी चाहिए. और आपकी हेल्प करने के लिए आज हम आपके साथ ये बहुत ही रोमांटिक और प्यारी शायरी कलेक्शन शेयर कर रहे है.

बॉयफ्रेंड को खुश करने वाली शायरी

boyfriend ko khush karne wali shayari

1
तुम्हारे बिना तो हम एक पल रह नहीं सकते
तुम्हारे बिना जीने का हम सोच नहीं सकते
हम तुमको मोहब्बत करते है
हम तुम्हारे बिना किसी को
अपना हमसफर देख नही सकते।।

2
तुम तो मेरी जिंदगी का वह हसीन लम्हा हो
मैं तुम्हे कितना चाहती हूँ
मेरी जिंदगी के बन चुके हो तुम
मैं तुम्हें कभी खुद से दूर करना नहीं चाहती हूँ।

3
मैंने हमेशा तुम्हें इस कदर चाहा है
मैंने तो खुदा से फरियाद में भी तुम्हें ही मांगा है
मैं तो हमेशा करती हूं तुमसे मोहब्बत
मैंने तुम्हारे लिए मन्नत का धागा भी बाँधा है

4
वह मुझे कुछ इस तरह लगता है
वह मुझे इतना प्यारा लगता है
मैं जब भी देखती हूं उसको
उस में खो जाती हूं
वह मुझे कोई अपना फरिश्ता लगता है

5
उसे शायद मेरा कोई पिछले जन्म का नाता है
तभी वह मुझे इतनी जल्दी समझ जाता है
वरना तेरे जैसा तो कोई नहीं इस दुनिया में
जिसको मेरा दिल इतनी जल्दी अपना बना जाता है।

6
इतनी भी क्या नाराजगी है मुझसे
कि तुमने मुझसे बात करना छोड़ दिया
मुझसे तुमने सारे रिश्ते तोड़ दिया
और अपना मुंह मोड़ लिया।

7
मैं तो तुमसे भी अभी भी बात करना चाहती हूं
मैं तो सिर्फ तुम्हारे साथ रहना चाहती हूं
मैंने तुमसे ही की है मोहब्बत
मैं तुम्हे अपना बनाना चाहती हूं
तो मान भी जाओ ना आज क्यों नाराज हो मुझसे
मैं तो सिर्फ तुमसे प्यार करती हूं अपना बनाना चाहती हूँ।

8
मोहब्बत तुमसे अब इस कदर बढ़ने लगी है
ख्वाबों में भी मुझे तुम्हारी चाहत होने लगी है
तुम तो मेरे दिल ही बन चुके हो
जिसके बिना मेरी जिंदगी अब रोने लगी है

9
अब तुम्हें जान से चाहती हूं
अब तुम्हें क्या मुझसे मोहब्बत हो पाएगी
हां मैं तो हमेशा तुम्हारी ही बन के रहूंगी
पर शायद अब तुम्हें मुझ से नफरत हो जाएगी।

10
मैं तुमसे मोहब्बत करती हूं
और मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती ..
इसीलिए मैंने सारी तकलीफ सह ही लेती हूं
क्योंकि मैं तुम्हारे लिए जख्मों को भी मोहब्बत बना लेती हूं।

11
तुम्हारे अलावा मेरा रहा कौन है
मैंने तुम्हारे अलावा किसी को कुछ सोचा नहीं है
मैं तो तुम्हे ही चाहती हूं हर समय
मैंने तुम्हारे अलावा किसी को ख्वाबों में देखा नहीं।

12
तुम मेरी जिंदगी से कभी मत जाना
तुम मुझे छोड़ कर कभी किसी और का हाथ मत थामना
मैंने तुम्हें चाहा है अपने पूरे दिलो जान से
तुम कभी भी मुझे अकेला छोड़कर मत जाना।

13
मैं हमेशा से तुमसे मोहब्बत करती थी
मैं हमेशा तुमसे मोहब्बत करती रहूंगी
तुम चाहो तो मुझे छोड़कर चले जाना ले
किन मैं हर समय तुम्हारा ध्यान करती रहूंगी।

14
तुम ही मेरी जिंदगी बन चुके हो
अब तुम ही मेरी चाहत बन चुके हो
मैंने तुम्हारे अलावा किसी को सोच नहीं सकती
तुम ही मेरे दिल की धड़कन बन चुके हो

15
मैं अब तुमसे मोहब्बत करती रहूंगी
मैं अब भी तुम्हे चाहती रहूंगी
मैंने तुम्हें ही माना है हमेशा अपना
मैं तुम्हें अपने दिल का हाल बताती रहूंगी।

16
तुम मुझे छोड़कर जाना चाहते हो पर
मैं तुम्हें कभी जाने नहीं दूँगी तुम्हे
मैं तुम्हे खुद से दूर होने नहीं दूंगी
आखिर मैंने मोहब्बत की है तुमसे
मेरी मोहब्बत को ऐसे बर्बाद होने नहीं दूंगी

17
मेरी चाहत मेरी जिंदगी मेने सब तुम्हें ही माना है
मैंने अपने सपनों का राजकुमार तुम्हें ही माना है
तुम मुझे छोड़ कर कभी मत जाना अब
मैंने तुम्हें ही अपना जीवन साथी हम सफर माना है।

18
मैं तुम्हें ही अपना हमसफर मानती हूं
मैं तुम्हें अपना जीवनसाथी मानती हूं
मैंने तुमसे ही की है मोहब्बत
में तुम्हें ही चाहती हूं
मैंने हमेशा तुम्हारा ख्याल किया है
मैं तुम्हें अपना बनाना चाहती हूं

19
तुम मेरी जिंदगी के वह सितारे हो
तुम ही मेरी जिंदगी के एक तारे हो
मैं तुम्हें छोड़कर कभी नहीं जाऊंगी
तुम ही मेरे लिए मेरे सब कुछ हो

20
मैं तुमसे इतनी मोहब्बत करती हूँ
जितनी मैंने आज तक किसी से नहीं की
मैंने हमेशा तुमसे किया है प्यार
और किसी की बात नहीं कि
तुम ही रहते हो हमेशा मेरे जहन में
मैंने तुम्हारे अलावा कभी किसी से मुलाकात नहीं की

21
तुम ही मेरी पहली मोहब्बत हो
और तुम ही मेरी आखिरी मोहब्बत रहोगे
मैं तुम्हारे अलावा किसी और से
कभी प्यार नहीं कर सकती
तुम ही मेरे दिल में हमेशा बसे रहोगे।

22
मैंने तुम्हें चाहा है हमेशा मैं तुम्हें ही चाहती रहूंगी
मैं तुमसे ही मोहब्बत करती रहूंगी
हां मैं तुमसे करती हूं प्यार और
मैं तुम्हें अपना बना कर रहूंगी।

23
तुम हमेशा मुझसे मोहब्बत करते हो
ऐसे ही तुम्हें भी चाहती रहूंगी
तुम मेरी हमेशा ख्याल रखना
मैं तुम्हें ऐसे ही अपने
दिल का हाल सुनाती रहूंगी।

24
तुम बिना कहे ही मेरी बात समझ जाते हो
तुम बिन बताए मेरे दिल का हाल समझ जाते हो
तुम ही मेरी मोहब्बत हो सच्ची
तुम मुझे कितना प्यार करते हो
मेरी जिंदगी को बड़ी आसानी से समझ जाते हो

25
तुम मेरी चाहत हो
मैंने तुम्हें ही हमेशा खुदा मान है
मैं नहीं जानती थी
कोई मेरी जिंदगी में ऐसा आ जाएगा
जिसे मैं मेने खुद से ज्यादा माना है।।

26
मेरे सिवा कोई तुम्हें इतना प्यार कर नहीं सकता
मेरे सिवा कोई तुम्हे इतनी मोहब्बत कर नहीं सकता
मैंने तुम्हें माना है अपनी जिंदगी
मेरे अलावा कोई और तुम्हें
इतने प्यार से कभी रोक नहीं सकता।

27
तुम मेरी जिंदगी का वह हिस्सा हो
जिसे मैं कभी खुद से दूर नहीं कर सकती
तुम मेरे हमसफ़र बनो या ना बनो
पर मेरे रास्ते के खूबसूरत सफर हो तुम
जिसे अब कभी भी खुद से अलग नहीं कर सकती

28
तुम ही मेरे सफर हो तुम ही मेरी जिंदगी हो
मैंने तुम्हें ही बनाया है अपना तुम ही मेरे सब कुछ हो
मैं तुम्हें ही चाहती रहूंगी पूरे दिलो जान से
तुम ही मेरी जिंदगी के इकलौते साथी हो

29
मैंने कभी तुम्हारे अलावा किसी के बारे में यह नहीं सोचा था
कि वह मेरा हमसफ़र बन जाएगा
मैंने तुम्हें पहली नजर देखा था
और नहीं सोचा था कि तू मेरी मोहब्बत बन जाएगा
पर आज तुम मेरी मोहब्बत ही नहीं मेरी जिंदगी बन चुके हो
तुम मेरे ख्वाबों में आने वाले हो राजकुमार बन चुके हो।

30
तुम्हें शायद मेरी मोहब्बत का भी अंदाजा नहीं है
तुम्हें शायद मेरी मोहब्बत की भी चाहत नहीं है
पर तुम यह नहीं जानते कि मैं तुमसे कितना प्यार करती हूं शायद तुम्हें अभी मेरे प्यार का अंदाजा नहीं है

31
नहीं तो तुम कभी मुझे छोड़ कर जा सकते हो
ना ही कभी मैं तुम्हें छोड़कर जाने दूंगी
मैं हमेशा तुमसे मोहब्बत करती हूं
मैं सिर्फ तुमसे ही मोहब्बत करती रहूंगी
मैंने हमेशा चाहा है तुम्हें मैं हमेशा तुम्हें ही चाहती रहूंगी।

32
अगर मैंने किसी को अपनी जिंदगी माना है तो वह तु होगा
मैंने किसी को दिल से चाहा है वो तुम हो
तुम्हारी जान बस्ती है मेरे अंदर
मेरे दिल की भावनाओं के हिस्से तुम हो

33
जब भी मुझे कभी तुम्हारा ख्याल आता है
मैं तुमसे बात करने चली जाती हूं
तुम भी बैठे रहते हो मेरे इंतजार में
मैं आकर तुम्हारे गले से लग जाती हूं
हां मैंने तुमसे ही मोहब्बत की है
मैं तुम्हें अपने दिल की हर बात बताती हू।

34
मैं तुम्हें अपने दिल की हर बात बताया करूंगी
मैं सिर्फ तुमसे ही मोहब्बत निभाया करूंगी
तुम मुझे कभी भी बीच सफर में छोड़ कर मत जाना
मैं हमेशा तुम्हारा हाथ थामें खड़ी रहूंगी

35
जिस सफर की कोई मंजिल नहीं होती है
उस सफर पर साथ चलना बेवकूफी होता है
पर मैं तुम्हारे साथ हर सफर पर चलने के लिए तैयार हूं
इस सफर को मंजिल मिले या ना मिले
मैं तुम्हारा हाथ पकड़ कर हर राह गुजारने को तैयार हूं

36
मैं हमेशा तुम्हें इस तरह से चाहती हूं
मैं तुम्हें कभी अपना नहीं बनाना चाहती हूं
मैं तुम्हें पूरी आजादी देती हूं
तुम चाहे जिस से मोहब्बत करो
पर मैं सिर्फ तुमसे प्यार करती हूं
यही मैं तुमसे कहना चाहती हूँ।

37
तुम ही मेरी मोहब्बत हो तुम ही मेरी चाहत हो
इस दिल ने कभी किसी को अपना नहीं माना
तुम वह मेरी इश्क इबादत हो
मैंने तुम्हें माना है पूरे दिल से अपना
तुम खुदा से मांगी हुई मेरी फरियाद हो

38
इस दिल ने कभी भी तुम्हें कभी
गलत सोचने पर मजबूर नहीं किया
मैंने कभी तुम्हें खुद से दूर नहीं किया
हां तुम्हें नहीं की शायद मुझसे मोहब्बत तो क्या हुआ
पर मैंने कभी तुम्हें अपने दिल से पराया नहीं किया।

39
जिसे मैं तुम्हें छोड़ कर चली जाऊंगी
फिर शायद कभी वापस लौट कर नहीं आऊंगी
क्योंकि मैं अपने वादे को हमेशा पूरा करती हूं
मैं फिर तुम्हारा साथ कभी नहीं आऊंगी

40
मैंने तुम्हें हमेशा खुश करने की कोशिश की है
मैंने हमेशा ही तुम्हें अपने दिल में रखने की कोशिश की है पर शायद तुम मुझसे मोहब्बत ही नहीं करते
तो फिर कैसी आशिकी मैंने की है
तुम्हें हमेशा अपना बनाने की कोशिश की है।

41
ये मोहब्बत मुझे तुमसे ही रहेगी
यह इश्क और इबादत भी मुझे तुमसे ही रहेगी
मैं तो तुम्हें ही चाहती हूं हमेशा दिलो जान से
मेरी मोहब्बत भी हमेशा तुमसे ही रहेगी

42
मैं तुम्हारे लिए सब कुछ कर सकती हूं
मैं तुम्हारे लिए किसी से भी लड़ सकती हूं
हां मैंने तुमसे की है मोहब्बत मैंतुम्हें अपना मानती हूं
मैं तुम्हारे लिए खुदा से भी लड़ सकती हूँ।

43
मैंने तुम्हारे लिए क्या नहीं किया है
मैंने तुम्हारे लिए सब कुछ तो किया है
तुम्हारे लिए मैंने हर समय तुम्हारा साथ दिया है
मैंने तुम्हारे लिए प्रार्थना की है भगवान से
मैंने तुमसे इश्क मोहब्बत कि हैं।

44
मुझे तो कभी नहीं था इश्क मोहब्बत पर यकीन
मुझे तो कभी तुम्हारे पे शक नहीं आता है
पर हमें तो नहीं चाहते तुम हमेशा चाहे कुछ भी हो जाए
मुझे तुम पर कभी भी शक नहीं होता

45
मैंने कभी सोचा नहीं था मुझे भी मोहब्बत हो जाएगी
मैंने कभी सोचा नहीं था कोई मुझे भी इस तरह मनाएगा मैं हमेशा चाहूंगी किसी एक फूल की तरह
जो हमेशा के लिए मेरा बन जाएगा।

46
मैं किसी से मोहब्बत करती हूं
तो फिर मैं उसे अपना सब कुछ दे देती हूं
मैं फिर उससे ही हमेशा चाहत पढ़ती हूं
मैं कभी किसी को नहीं सोचती इतना
जितना मैं तुम्हें सोचती हूं
हां मैंने तुमसे प्यार किया है
मैं तुम्हारेहूँ मैं तुमसे मोहब्बत करती हूं

47
मेरी मोहब्बत पर तुम्हे कभी शक आएगा
तो फिर वह मेरी जिंदगी का आखिरी दिन हो जाएगा
तुम कभी मुझे वापस अपना फिर बना नही पाओगे
वही हमारी मोहब्बत का अंत हो जाएगा।

48
मेरी मोहब्बत ही हमेशा सच्चीरहती है
मेरी इबादत हमेशा तुम्हारे लिए होती है
हां मैंने तुम्हें ही चाहा है हमेशा
मेरा हर सफर मेरी हर जिंदगी तुम्हारे लिए ही होगी।

49
मेरी चाहत को शायद तुमने समझा होता
मुझे तुमने अपना माना होता
तो आज यह नौबत कभी नहीं आती
तुमने मुझे दिलो जान से चाहा होता

50
तुम मुझे इसी तरह दिलो जान से चाहते रहना
तुम मुझसे इसी तरह मोहब्बत करते रहना
मैं तुम्हें ही मानती हूं अपना सब कुछ
तुम भी मुझसे इसी तरह चाहत करते रहना।

51
तुम्हारी मोहब्बत को मैंने हमेशा अपना बना कर रखा है
तुम्हें मैंने हमेशा सीने से लगा कर रखा है
हां मैंने तुम्हारी ही चाहत की है दिल से
मैंने तुम्हें अपना दिल में बसा कर रखा है

52
तुम्हारी चाहत को मैं कभी भुला नहीं सकती
मैं तुम्हें कभी खुद से दूर कर नहीं सकती
मैंने तुम्हें ही माना है अपना
मैं कभी तुम्हें खुद से जुदा कर नहीं सकती

53
मैं तुम्हें कभी खुद से जुदा कैसे कर पाऊंगी
मैं तुम्हारे बिना कैसे रह पाऊंगी
मैंने तुमसे ही किया मोहब्बत और मैं तुमसे ही करती हूं
मैं तुम्हारे लिए हर एक से लड़ जाऊंगी

54
तुम कभी भी मुझसे दूर जाने की बात मत किया करो
तुम कभी भी मुझसे इस तरह
उदास होने के बात मत किया करो
तुम्हारे चेहरे पर उदासी बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगती
तुम मुझसे कभी भी नाराजगी की बात मत किया करो

55
तुम मेरी चाहत तो मेरी मोहब्बत में मेरा इश्क़ हो
खुदा जिसे आसानी से नहीं देता तुम मेरी इबादत हो
हां मैंने तुमसे ही किया है इश्क
मेरे लिए मेरा सब कुछ तुम ही हो

56
मेरा इश्क मेरी मोहब्बत मैंने कभी कुछ अलग नहीं किया
मैंने तुम्हें चाहा है हमेशा मैंने कभी तुम्हें पराया नहीं किया
हमेंसा तुम्हें ही मानती हूं अपना सब कुछ
मैंने कभी तुम्हें खुद से दूर नहीं किया

57
मैं तुम्हें हमेशा चाहती हूं कि
मैं तुमसे हमेशा मोहब्बत करती रहूंगी
तुम मुझे छोड़ कर कभी मत जाना
मैं भी हमेशा तुम्हारे साथ रहुंगी

58
तुम कहीं भी नाराज मत हुआ करो
तुम उदास मत हुआ करो
मैं हमेशा तुमसे करती हूं मोहब्बत
तुम कभी मुझसे दूर जाना की बातें मत किया

59
तुम भी जानते हो तुम्हारी उदासी से
मुझे कितनी तकलीफ होती है
तुम भी जानते हो मैं तुम्हारे बिना रह नहीं सकती
तो फिर क्यों तुम इस तरह की बातें करते हो
जब मैं तुम्हारा बिछड़ना सह नहीं सकती

60
हमेशा तुम्हे अपना बनाना चाहती हूं
मैं हमेशा तुमसे मोहब्बत करना चाहती हूं
तुम कभी भी मुझसे दूर मत जाना
मैं तुम्हें हमेशा अपने दिल के पास रखना चाहती हूँ।

61
मैंने तो हमेशा तुम्हें ही चाहा है
मैंने हमेशा तुम्हें अपना माना है
तुम ही मेरे सब कुछ हो
मैंने तुम्हें अपने परिवार से भी बढ़कर माना है

62
तुम कभी मुझे धोखा मत देना
तुम कभी भी मुझे छोड़कर ना जाना
क्योंकि तुम अगर मुझे छोड़कर चले गए
तो मैं मर ही जाऊंगी
इसीलिए तुम कभी मेरा दिल तोड़ के मत जाना

63
अरे तुम मुझसे थोड़ी सी मोहब्बत करते हो यार
तुम मुझसे थोड़ी सी चाहत रखते हो
तो फिर कभी भी मुझसे दूर जाने की बात मत करना
अगर तुम मुझे थोड़ा सा भी पसंद करते हो

64
मैंने हमेशा तुमसे मोहब्बत की थी
और मैं हमेशा तुमसे ही मोहब्बत करना चाहती हूं
मैं कभी भी तुम्हें अपने आप से दूर नहीं करना चाहती हूं
हां तुम चले जाना मेरे पास जब भी तुम्हारा मन हो
मैं कभी भी तुम्हें भुलाना नहीं चाहती हूं

65
तुम अगर कभी मुझसे दूर होकर जाओगे
तुम अगर मुझे भूल ही जाओगे
तुम मुझे छोड़ कर चले जाओगे
तो मैं हमेशा तुम्हारे दिल में रहूंगी
अगर तुम कभी मेरे पास नहीं आओगे

66
तुम कभी भी मुझसे दूर मत जाना
तुम कहीं भी मुझे मत भुलाना
तुमसे ही की है मोहब्बत
तुम मेरा साथ हमेशा निभाना

67
शायद अब तुम्हें मेरी मौजूदगी खलने लगी है
अब शायद तुम मुझसे दूर जाना चाहते हो
तो मैं तुम्हें अपने पास जबरदस्ती नहीं रखूंगी
अगरर अब तुम यह रिश्ता नहीं निभाना चाहते हो

68
अगर तुम्हें मुझ से परेशानी होने लगी है
अगर तुम्हें मुझसे दूर जाना है
तो मैं तुम्हें कभी भी रोकने की कोशिश नहीं करूंगी
अगर तुम्हें किसी और के साथ रिश्ता निभाना है

69
शायद मुझसे बात करने में टकराने लगी हो
तुम शायद मुझसे मोहब्बत नहीं करते
इसीलिए किसी और से बतिया ने लगे हो
हां मैंने तो तुम ही चाहा हमेशा
पर शायद तुम किसी और से मोहब्बत करने लगी हो

70
अगर तुम मेरा साथ नहीं चाहिए
तो तुम मुझे बता सकते हो
तुम मुझे अपनी परेशानी है समझा सकते हो
मैंने तो तुम्हें मनाने की कोशिश की थी हर बात
पर तुम चाहो तो मुझे खुद से दूर कर सकते हो

71
कभी मुझे खुद से दूर मत करना
तुम कभी भी मुझे खुद से अलग मत करना
मैं तो तुम्हारा हिस्सा बन चुकी हूं
अब तुम्हारे बिना मर जाऊंगी
तुम कभी मुझे छोड़कर किसी और से मोहब्बत मत करना

72
अगर तुम मुझे छोड़ कर चले गए तो मैं जी नहीं पाऊंगी
मैं तुम्हारे बिना एक पल भी रह नहीं पाऊंगी
क्योंकि अब मैं सिर्फ तुमसे ही करती हूं मोहब्बत
मैं कभी किसी और से प्यार कर नहीं पाऊंगी

73
मोहब्बत बार-बार नहीं होती है
मोहब्बत सिर्फ एक बार होती है
हमने तो सिर्फ तुम्हें ही चाहा है हमेशा से
और यह जिंदगी भी हम बस सिर्फ तुम्हारी ही होती है

74
अगर तुम्हें मुझसे कुछ चाहिए तो तुम मुझे बता सकते हो
तुम अपनी तकलीफ है मुझे समझा सकते हो
मैंने हर वक्त की है तुम्हारे दिल को समझने की कोशिश तुम अगर मुझे प्यार से मनाते हो तो भी तुम अपनी बात कह सकते हो।

75
मैंने तुम पर आज तक कभी गुस्सा नहीं किया
मैंने कभी आज तक तुमसे कोई गलत बात नहीं की
क्योंकि मैं नहीं चाहती तुम्हे थोड़ा सा भी दुख हो
इसीलिए मैंने आज तक तुमसे कभी
मोहब्बत की झूठी बातें नहीं की हैं।

76
मैं भी तुमसे झूठी बात करना नहीं चाहती
मैं कभी भी तुम्हें भुलाना नहीं चाहती हूं
तुमसे ही करती हूं मोहब्बत
मैं किसी और को अपना बनाना नहीं चाहती

77
अगर दिल में थोड़ी सी भी मुझसे मोहब्बत है
तो तुम कभी भी इस तरीके से मुझसे दूर मत जाना
तुम कभी भी मुझसे रिश्ता तोड़ कर मत जाना
हां मैंने चाहत की है तुमसे तुम भी मुझसे थोड़ी सी मोहब्बत निभाना।

78
तुम्हें किसी और से मोहब्बत निभाना है
तो तुम उससे ही मोहब्बत निभा सकती हो
तुम उसे अपने दिल से लगा सकती हो
पर हां फिर मुझे तुम हमेशा के लिए भूल जाना
और फिर कभी भी तुम मेरे पास लौट कर मत आना।

79
तुम्हें अब मुझसे शिकायत होने लगी
अगर कभी तुम्हें मुझसे दूर जाने में मजा आने लगे
तो तुम मुझे बता देना मैं तुम्हें कभी नहीं रोकूँगी
मैं तुम्हें दूर जाने दूंगी
मैं तुम्हारा हाथ फिर कभी नहीं पकड़ूंगी।

80
मैं तो अब तुम्हें हमेशा खुश रखना चाहती हूं
मैं तो तुम्हें कभी दुखी देखना ही नहीं चाहती
पर शायद तुम्हें मुझसे अब कोई मतलब नहीं रहा
इसलिए तुम मुझसे दूर दूर जाते हो
और ना मैं तो हमेशा तुम्हें अपने पास रखना चाहती हूं

81
आज मैंने तुम्हारा नाम सोचा था
आज मैंने तुम्हें ख्वाबों में देखा था
हमने तुमसे ही की थी मोहब्बत
मैंने तुम्हें ही अपना सब कुछ माना था

82
आज मैं तुम्हें हमेशा मोहब्बत मानती रहूंगी
अगर मैं तुम्हें हमेशा इसी तरह प्यार करती रहूंगी
तो मेरे पास किसी और के लिए कुछ भी नहीं बचेगा
पर मैं चाहती हूं मैं तुम्हें ही सब कुछ मान लूं
इसलिए मैं तुमसे मोहब्बत करती रहूंगी

83
मेरे पास तो अब किसी के लिए कुछ नहीं बचा
मेरे पास अब तुम्हे देने के लिए
अपनी जान से ज्यादा कुछ नहीं बचा
मैंने सब कुछ दे दिया ..अपना
मेरे पास तो अब अपना दिल भी नहीं बचा

84
मेरी मोहब्बत का अंदाजा
तुम शायद इस बात से लगा पाओगे
तुम शायद मुझसे कभी खुद से दूर कर नहीं पाओगे
मैंने तुमसे चाहत की है हमेशा
तुम मुझे कभी भुला नहीं पाओगे।

85
मेरी चाहत मेरी मोहब्बत मेरा दिल अब सब तुम हो
मैंने तुमसे ही की है मोहब्बत
तुम ही मेरा सब कुछ हो
तुममुझे छोड़ कर कभी मत जाना
क्योंकि तुम ही मेरी जिंदगी मेरा सब कुछ हो।

86
तुम मेरे महादेव बन जाना
मैं तुम्हारी पार्वती बनना चाहती हूं
मैं कभी तुमसे अकेले मिलना चाहती हूँ
मुझे कहनी है तुमसे अपने दिल की बात
तुमसे मोहब्बत करते हूँ मैं तुम्हें बताना चाहती हूं।

87
अभी हम अकेले शायद मिल पाएंगे
तो हम तुम्हें अपने दिल की बात बता पाएंगे
हमें भी होने लगी है तुमसे अब थोड़ी थोड़ी मोहब्बत
यह हम तुम्हें शायद लफ्ज़ों में समझा पाएंगे

88
मोहब्बत को जब मैं तुम्हें समझा नहीं सकती
मैं तुम्हें अब अपने दिल का हाल बता नहीं सकती
मैं कैसे कहूं कि मुझे तुमसे मोहब्बत हो चुकी है
मैं तुम्हारे बिना एक पल भी रह नहीं सकती।

89
जब तूने मुझसे मोहब्बत थी
तो मैंने तुमसे प्यार करना जरूरी नहीं समझा
पर तुमने वह मेरा इंतजार करना भी जरूरी नहीं समझा
मैं तुमसे मिलने के लिए आती रही हर वक्त
पर तुमने मुझसे मिलना भी फिर जरूरी नहीं समझा

90
कभी तुम मुझे गंगा के किनारे पर मिल जाना
मैं भी तुम्हारा घाट पर इंतजार करूंगी
मैं बस सिर्फ तुम्हें बनाना चाहती हूं अपना
मैं हमेशा तुम्हें ख्वाबों में रखूंगी

91
तू मेरे नस नस में बस चुका है
तू अब मेरा होकर रह चुका है
तू भी अब किसी और का कभी हो नहीं पाएगा
क्योंकि तू भी मुझसे मोहब्बत कर चुका है।

92
अरे मैंने कभी तुम्हें सच्चे दिल से चाहा होगा
तो तुम अभी भी मुझसे बेवफाई नहीं करोगे
मेरा हाथ छोड़कर तुम कभी
किसी और के पास नहीं जाओगे
मुझसे ही करोगे मोहब्बत
कभी मेरा हाथ छोड़कर नहीं जाओगे

93
अगर तुम्हें कभी किसी और से मोहब्बत हो जाए
तो तुम बता सकते हो
तुम अपने दिल की हर बात मुझे समझा सकते हो
मैं तुम्हें समझने की हर वक्त पूरी कोशिश करूंगी
हां तुम मुझे अलावा भी किसी और से प्यार कर सकते।

94
मैंने तो मोहब्बत में कभी किसी और को नहीं चाहा
मैंने तो हमेशा तुम ही चाहा है
हां मैं तुमसे एक बार मिल कर गले लगना चाहती हूँ
मैं तुम्हें हमेशा अपने दिल की बात बताना चाहाती हूँ

95
मेरे दिल की बात समझने के लिए तुम्हें मेरे पास आना होगा
तुम्हें मुझसे थोड़ा सा मोहब्बत दिखाना होगा
हां मैं तुमसे करती हूं प्यार
तुम्हें भी मुझे थोड़ा सा समझना होगा।

96
मेरी मोहब्बत तुम ही हो मैं हमेशा तुम्हें चाहती हूं
मैं हमेशा तुमसे ही प्यार करती रहूंगी
तुम भी कभी तो आना मुझसे मिलने
मैं तुम्हारा हर वक्त उसी जगह पर इंतजार करती रहूंगी।

97
तुमसे हुई पहली मुलाकात आज भी याद है मुझे
उस दिन को कभी भूल नहीं सकती
मैंने जब तुम्हें देखा था पहली बार
मुझे तुमसे मोहब्बत हो गई थी
मैं उस एहसास को कभी खुद से अलग कर नहीं सकती।

98
थोड़ी सी तुम भी मुझसे मोहब्बत निभाना
थोड़ा सा तुम भी मुझसे रिश्ता बचाना
हां मैं तो चली जाती हूं कभी-कभी तुम्हें छोड़कर
तुम मुझे छोड़ कर कभी मत जाना
क्योंकि तुम भी जानते हो
मैं भी करती हूं तुमसे मोहब्बत
तुम कभी भी मुझे इस तरह
अकेला रोता हुआ छोड़ कर मत जाना।

99
तुम मेरे हमसफ़र हो यह मैं सबके सामने कह सकती हूं
अब मैं तुम्हारा हाथ पकड़ कर चल सकती हूं
हां मैंने तुमसे कि है मोहब्बत कहनें में मुझे कोई झिझक नहीं है
मैं अब तुम्हारा साथ जिंदगी भर निभा सकती हूं।

100
मैं तुम्हारा साथ निभाना चाहती हूं
मैं तुमसे ही मोहब्बत करना चाहती हूं
हां मैंने तुम्हारे अलावा कभी किसी और को नहीं सोचा
मैं सिर्फ तुमसे प्यार करना चाहती हूं।

Final Words:

तो दोस्तों ये था अपने बॉयफ्रेंड को खुश करने वाली शायरी, हम उम्मीद करते है की आपको हमारी ये शायरी जरुर पसंद आई होगी. अगर आपको हमारी ये शायरी कलेक्शन अच्छी लगी हो तो प्लीज इस पोस्ट को १ लाइक जरुर करे और शेयर भी करे ताकि ज्यादा से ज्यादा gf अपने bf को खुश कर पाए धन्येवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published.