बॉयज एट्टीट्यूड शायरी | Boys Attitude Shayari

Hello, friends in this post we are going to share the best attitude Shayari for boys in Hindi. All these Shayari are very good and you can also share with your friends on Whatsapp and Facebook. So friends in this post we have handpicked some of the best attitude Shayari for boys which you are definitely going to love. So friends without wasting any time let’s start this post.

Boys Attitude Shayari in Hindi

boys attitude shayari in hindi

1
आवाज थोड़ी नीची रखा करो
हमसे थोड़ी दूरी रखा करो
तुम नहीं हो हमारे काबिल
नजर झुका कर चला करो।।

2
हमारे सामने दादागिरी मत बता
नहीं तो पेल दिया जाओगे
आए थे अपने पैरो पर
इधर से एम्बुलेंस मै जाओगे।।

3
कुछ लोगो मुझसे जलते है
पर मेरा कुछ उखाड़ नहीं पाओगे
मै तो आसमां का परिंदा हूं
मुझ तक कभी पहुंच नहीं पाओगे।।

4
मेरे सामने जुबान नहीं खुलती किसी की
पीठ पीछे हजारों भौंकते है
मुझे फर्क नहीं पड़ता तुमसे
तेरे जैसे मेरे आगे पीछे घूमते है।।

5
कुछ लोगो को मै पसंद नहीं आता
पर फिर भी अपनी अलग पहचान रखता हूं
कोई कहे या ना कहे कुछ
मै अपनी अलग शान रखता हूं।।

6
अपनी तकदीर खुद लिखता हूं
मै अपने दम पर जिया करता हूं
लोग कुछ भी कहे
मै अपने सपने पूरे किए करता हूं।।

7
दुनिया से शौक अलग रखते है
हमसे ना खेलना बच्चा
सीने में आग, जेब में गन रखते है।।

8
दुनियादारी से मतलब नहीं है मुझे
अपने काम खुद किया करता हूं
दूसरो के सहारे नहीं रहता
अपनी मंजिल खुद तय करता हूं।।

9
मेरे हिस्से मै जो आया है
मैने वहीं पाया है
खैरात नहीं लेता मै किसी से
अपनी किस्मत रब से
लिखवाकर लाया है।।

10
मुझसे दूर रहने मै ही तुम्हारी भलाई है
वरना तो तुमने अपनी जान गंवाई है
ओर मुझसे ना उलझना मुन्ना
सामने खड़ा तेरा भाई है।।

11
लोगो की ओकात जानता हूं मैं
उनको अच्छे से पहचानता हूं मैं
करते है जो पीठ पीछे मेरी बुराई
उनके चहरे भी जानता हूं मै।।

12
मेरे हिस्से मै जो आएगा वहीं लूंगा
पर अपना हक़ किसी को कभी ना दूंगा
ज्यादा ना बोलन मेरे सामने तुम
वरना तुम्हे अपनी ओकात दिखा दूंगा।।

13
हम तो आज भी यही है
कल भी यही रहेंगे
हमारे नाम का डंका बजता है यहां
हम कल भी तुम्हारे बाप थे
ओर आज भी रहेंगे।।

14
मेरे पर ये इल्जाम लगाया जाता है
मुझे बुरा बताया जाता है
पर वो नहीं जानते है इतना
की उनके सामने अपने बाप का नहीं सिखाया जाता है।।

15
अपनी मर्जी से चलते है
किसी के उपर बोझ नहीं बनते
जो नहीं होते हमारे सगे
हम भी फिर उनसे बात नहीं करते।।

16
जरा तमीज सीख लो तुम
हमसे ऊंची आवाज मै बात ना करना
जब हम रहे है यहां पर
हमारे सामने खड़े होने की हिम्मत ना करना।।

17
आज समझा रहे है प्यार से
तो अच्छे से समझ जाना
वरना ओर भी तरीके आते है हमे
फिर तुम कैसे अपनी जान बचाना।।

18
जो कह दिया वहीं पत्थर की लकीर होता है
हमारा फैसला ही तकदीर होता है
खुद लिखते है हम अपनी किस्मत
इसलिए जग मै हमारा नाम होता है।।

19
जाओ पहले सीखकर आओ
फिर हमारे सामने खड़े होना
तुम अभी बच्चे हो बेटा
अपने बाप के सामने कभी खडे मत होना।।

20
छोड़ दिया तुझे मैने शुक्र मना
वरना मै आसानी से छोड़ता नहीं
एक बार जो उलझ जाए मुझसे
बिना उसकी हड्डियां तोड़े छोड़ता नहीं।।

21
हम तो सीने मै जिगरा रखते है
तुम जैसे को अपनी जेब मै रखते है
तुम कहा आ गए बेटा हमसे लड़ने
तुमसे अच्छे तो हम कुत्ते रखते है।।

22
मुझे ओकात दिखा रहे हो
तुम अपनी ही जात दिखा रहे हो
मेरा तो कुछ जाएगा नहीं
पर तुम अपनी किस्मत बिगाड़ रहे हो
ले कर दुश्मनी मुझसे
अपनी जान गंवा रहे हो।।

23
जिगर रखते है हम
अकेले चलने का हुनर भी रखते है
आसमां भी हमारा है अब
हम वहां भी अपना लिखते है।।

24
हर जगह मेरी जीत का परचम लहराया है
देखो आज फिर से शेर आया है
कुछ देर सो गया था तो क्या हुआ
आज फिर तुम्हारा बाप लोट आया है।।

25
मेरी तरफ ऐसे ना देखो तुम मेरे कोई नहीं लगते
धोखेबाजों से नफरत है मुझे
तुम अब मेरे महुबुब नहीं लगते।।

26
कब का छोड़ दिया करता हूं
मै लोगो से रिश्ते तोड़ दिया करता हूं
जो नहीं देते साथ मुश्किल मै मेरा
मै भी उनका हाथ अब छोड़ दिया करता हूं।।

27
हम तो सब सह जायेंगे
तुम्हारी हर अदा पर मर जाएंगे
पर जो बात आई हमारी इज़्ज़त पर
हम दुनिया से भी लड़ जायेंगे।।

28
दुनिया जमाने से रिश्ता मिटा रखा है
मैने अपनो से दामन छुड़ा रखा है
अब नहीं करता मै भरोसा किसी पर
मैने हर एक की वफ़ा को निगाहों मै बसा रखा है।।

29
लोग क्या कहते है मै नहीं सोचा करता
मै अपनी जान की परवाह नहीं किया करता
बहुत आए ओर गए इस जिंदगी के सफर मै
मै कभी फालतू लोगो के पीछे
वक्त बर्बाद नहीं किया करता।।

30
एक दिन मेरा भी वक्त आएगा
हर तरफ होगा मेरा जयकारा
हर जगह मेरा नाम सुनाया जाएगा।।

31
तेरी हेकड़ी एक पल मै निकाल सकता हूं
तेरे जैसे को ठिकाने लगा सकता हूं
ओर क्या कह बुजदिल हूं मै
तुझे तेरी ओकात याद दिला सकता हूं।।

32
हर जगह सिक्का चलता है
सारे शहर में राज चलता है
तेरे जैसे बहुत आते है मुन्ना
यहां तेरे बाप का राज चलता है।।

33
कुछ लोगो की आदत सुधरती नहीं है
उनकी मुझसे बनती नहीं है
यहां का शेर हूं मै
मेरे सामने किसी की चलती नही है।।

34
हर जगह एक ही नाम छाया है
देखो तुम्हारा बाप आया है
आवाज कोई नहीं करता हमारे सामने
तेरे जैसौ का आज काल आया है।।

35
अपने होंसले आसमान से ऊंचा रखता हूं
मै तुम जेसो को अपनी जेब मै रखता हूं
किसी के सहारे की जरुरत नहीं मुझे
मै अपने दम पर चला करता हूं।।

36
कुछ भी कह लो मेरे बारे मै
मेरा कुछ बिगाड़ नहीं पाओगे
मुझसे दुश्मनी करके
तुम कैसे अपनी जान बचाओगे।।

37
तेरे जैसे हजारों से मिलता हूं
मै किसी को याद नहीं रखता
मतलबी लोगो से दूर रहता हूं मै
तेरे जैसो के कभी मुंह नहीं लगता।।

38
मेरे सर पर मेरे मां बाप का हाथ मै
मुझे किसी ओर की जरुरत नहीं है
महकाल है मेरे साथ हमेशा
मुझे लोगो की जरुरत नहीं है।।

39
अकेले चलने का हुनर रखता ह
किसी से भी टकरा जाऊ दम रखता हूं
आज तक नहीं डरा किसी से
क्युकी अपने हौसलों से उड़ा करता हूं।।

40
कितनी भी खिलाफ कर लो हवा मेरे
वक्त मेरा भी आएगा
जिस दिन आऊंगा मै आंधी बनकर
तुम सब का घमंड तिनके की तरह उड़ जाएगा।।

41
हमारे चर्चे तो सभी जगह चलते है
पर पर बात सिर्फ हमारी होती है
कोई कुछ भी कह दे हमें पीठ पीछे
पर सामने ओकात नहीं होती है।।

42
शेर हूं जंगल का अपने हिसाब से जीता हूं
सर्कस की तरह कैद नहीं रहता हूं
तुम लोगो क्या मुझे मिटा पाओगे
मै तुम जैसे खिलौनों से रोज खेलता हूं।।

43
अब बहुत हो चुका अब हमारी बारी आई है
जिसने भी किया है दगा हमसे
आज उन सबकी मौत आई है।।

44
क्या लिखे हम अपने बारे मै
लोग खुद बता दिया करते है
झुके हुए सर सबके
हमारी हैसियत बता दिया करते है।।

45
कुछ लोगो को मै पसंद नहीं आता
मैने भी सबका ठेका नहीं ले रखा है
जो कर लेते है किनारा मुझसे
मैने उन्हे याद भी नहीं रखा है।।

46
अपनी शान अलग ही होती हैं
अपनी पहचान अलग ही होती है
लोग कह ले कुछ भी हमारे बारे मै
हमारी इज्जत कभी कम नहीं होती है।।

47
आज तुम्हारा है तो कल हमारा भी आएगा
ये वक्त ही है बदल जाएगा
हिसाब सबका होगा एक दिन
जिस दिन मेरा सैलाब आएगा।।

48
आज खामोश हूं मै क्युकी मेरा दौर नहीं है
पर काल वो दौर भी आएगा
जब हर शक्स मेरे सामने नजर झुकाएगा।।

49
हवाओं से कह दो अपना रुख बदल ले
हम अपने रास्ते नहीं छोड़ा करते
जब तक मंजिल नहीं पा ले
हम अपने हौसले नहीं तोड़ा करते ।।

50
मेरे खिलाफ होते है कुछ लोग
मेरी बुराई करते है
नहीं होती मेरी बराबरी उनसे
इसलिए वो ऊंचे ख्वाब रखते हैं।।

51
आज की यही कहानी है
कल का इतिहास हम लिख देंगे
जो नहीं हुआ कभी इस जमाने में
हमारी वो अमिट कहानी लिख देंगे।।

52
आज के बाद मै किसी पर यकीन नहीं करूंगा
धोके देने वालों से वफ़ा नहीं करूंगा
लोग तो कहते रहते है अपनी शान
मै उनके यहां कभी कदम भी नहीं रखूंगा।।

53
तूने दिल तोड़ दिया अब
तो हम भी कोई रिश्ता नहीं रखते
तेरी जैसी बेवफा को
हम भी अपने दिल मै नहीं रखते।।

54
मेरे उसूल जिंदगी के अलग रखता हूं
खुद की पहचान अलग रखता हूं
लोग जीते है अपने बाप की दौलत पर
मै मेरे पापा का सम्मान रखता हूं।।

55
अगर इज्जत से बात करोगे तो इज्जत पाओगे
अकड़ से तो हमारा कुछ बिगाड़ नहीं पाओगे
बहुत देखे है तुम्हारे जैसे हमने
तुम हमारा बाल भी बांका नहीं कर पाओगे।।

56
अकेला ही तुम सब के लिए काफी हूं
मै गेंग लेकर नहीं आता
दम रखता हूं अकेला ही जिगर मै
इसलिए कभी कायर नहीं कहलाता।।

57
आजकल लोगो ज्यादा उड़ने लगे है
हम थोड़ी देर शांत क्या रहे
हमारी बुराई करने लगे है
अब कुछ कुत्ते है जो पीठ पीछे भोकने लगे है।।

58
हमारे आगे कोई कहा टिक पाता है
कल का सूरज भी देख नहीं पाता है
लोग कह ले कुछ भी पीठ पीछे
सामने कहां किसी का मुंह खुल पाता है।।

59
अभी थोड़ा ओर सीखकर आओ
तब हमसे लड़ने आना
कुछ ओर कर लो गुनाह अपने
फिर अपनी जान गवाना।।

60
जिन लोगो को मेरी बात समझ नहीं आती
उनको समझा देता हूं
प्यार से मानते है तो ठीक है
वरना अपना असली रूप दिखा देता हूं।।

61
जो मेरे साथ रहता है
मै अभी उसकी हिफाजत करता हूं
दगाबाजी नहीं है हमारे खून मै
मै सबके उपर निगाहे रखता हूं।।

62
अपनी आवाज मै दम रखता हूं
अपने हिम्मत को संग रखता हूं
जब भी पड़ता हूं अकेला कभी
मै महाकाल को हमेशा याद करता हूं।।

63
जरा सोच समझकर आगे बढ़ा करो
तुम अपने कदम आराम से रखा करो
मै तो बहुत बिगड़ैल हूं यारो
तुम अपनी आवाज नीचे रखा करो।।

64
लोग कहा करते है मै बुरा हूं
तो वो सब सही कहा करते है
मुझे अब फर्क नहीं पड़ता किसी से
सब अपनी ओकात दिखाया करते है।।

65
इतिहास हमेशा दोहरा दिया जाता है
मै भी वही इंसान बन जाऊंगा
जो कर दिखाया था लोगो ने बहुत पहले
वो मै आज कर दिखाऊंगा।।

66
दरियादिल इंसान नहीं हूं मै
गलती करने वालों को छोड़ता नहीं
जो लेते है मुझसे दुश्मनी
बिना हड्डियां तोड़े छोड़ता नहीं।।

67
अपना दिमाग अपने पास रखो
हमारे सामने ना चलाया करो
हम तुम्हारे बाप लगते है
हमे ना सिखाया करो।।

68
तुम्हे हम आइना दिखा सकते है
एक ही बार मै ओकात दिखा सकते है
जो तुम कहते हो हमे बुरा
हम तुम्हे अपना वो रूप भी दिखा सकते है।।

69
आसानी से हार मान जाऊ मै वो इंसान नहीं हूं
किसी के कदमों मै झुख जाऊ वो शक्श नहीं हूं
मंजिल तक पहुंचकर ही दम लेता हूं
मै थका हुआ हूं अभी, हारा हुआ नहीं हूं।।

70
अपने बारे मै अब क्या लिखूं
मुझे खुद को तारीफ पसंद नहीं है
झूठ बोलते है कुछ लोग मुझसे
मुझे उनकी दगाबाजी पसंद नहीं है।।

71
जंगल का राजा तो राज ही करता है
गीदड़ उसका शिकार नहीं कर सकते
जब भी जाता है कहीं तहलका मचा देता है
कुत्ते उसकी बराबरी नहीं कर सकते।।

72
हमने अपनी हद दिखा रहे हो
जो लोग हमे सीखा रहे हो
अपनी गिरेबान मै झांककर देखो
तुम हमारी फेकी हुई है उठा रहे हो।।

73
आजकल सुना है हमारी बातें होती है
जो लोग नहीं मिलते थे मुझसे
उनकी भी मुलाकाते होती है
लगता है मेरी कामयाबी शोर मचा रही है
जो लोग चलते थे मेरे सामने सीना तानकर
उनकी भी निगाहे आज नीची हुई जा रही है।।

74
सपने मैने देखे है उनको पूरा भी मै ही करूंगा
आज नहीं है मेरा तो क्या हुआ
कल आसमां पर भी अपना नाम लिखूंगा।।

Final Words:

So, friends, these are the best boy’s attitude Shayari in Hindi, We really hope that you loved all these attitude Shayari, and if yes then please give this post 1 like and don’t forget to share with your friends on Whatsapp and Facebook.

Apart from that please check out our other posts as you will find them very interesting. Thank you.

Share this...

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.