Romantic Shayari in Hindi For Girlfriend & Boyfriend 2021 | गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड के लिए रोमांटिक शायरी

Romantic Shayari in Hindi For GF & BF – Hello friends in this post I am going to share the very best love romantic shayari ine Hindi. If you really love your girlfriend or boyfriend then you must definitely share these beautiful romantic shayari with them.

In every love relationship romance is very important thing and you must really Express your your feelings to your girlfriend or boyfriend. Because of this I am sharing this wonderful romantic shayari collection for all you guys.

So without wasting any time let’s read this wonderful and lovely romantic shayari collection in Hindi.

Romantic Shayari in Hindi For Girlfriend & Boyfriend 2021

गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड के लिए रोमांटिक शायरी

romantic shayari in hindi

1
हर पल तुझे सोंचू तुझे ही याद करूं
ये अपनी जिंदगी बस तेरे ही नाम करूं
मेरी धड़कन मै बस चुकी हो तुम इस कदर
मै अपनी जिंदगी का हर एक लम्हा तेरे नाम करूं।।

2
तेरे करीब होने का अहसास हर पल होता है
तू रहती है मेरे पास चांदनी सा सवेरा होता है
तेरी जुल्फे लगती है किसी बादल की तरह
जब घनी रात और अंधेरा होता है।।

3
मेरे दिल का सुकून है तू
तुझे ना देखू तो मन नहीं लगता
मेरे दिल के आशियाने मै घर है तेरा
तेरे बिना मुझे कोई अच्छा नहीं लगता।।

4
तेरी चाहतों ने ही तो मुझे संवारा है
तेरे बिन ना अब कोई मुझे गवारा है
तुझको बसा लूं मै दिल मै इस कदर
अब बस तू ही मेरे जीने का सहारा है।।

5
मेरे दिल मै तेरी जगह सबसे अलग है
कोई नहीं है वहां जहां तेरी जगह है
मेरी सांसे भी अब तेरा ही नाम लेती है
तू ही दिखे अब मुझे हर जगह है।।

6
जब चांद निकलता है तो रोशनी लाता है
तू भी वैसे ही मेरी जिंदगी मै आई है
खुशियां है तुझसे मेरी सारी
तू बनकर बहार मेरे जीवन मै छाई है।।

7
मैने देखा है तुझे इस कदर
तुझे महसूस भी किया है
मेरी सांसों ने भी छुआ है तेरे दिल को
तेरे दिल ने भी मुझे महसूस किया है।।

8
संग तेरे हरदम चलू बस इतनी सी ख्वाहिश है
कभी तुझे कोई गम ना हो, दर्द तुझे छू भी ना पाएं
खुश रहे तू हमेशा मेरी जां, हमेशा यू ही मुस्कुराए।।

9
तेरे हाथ थामे जिंदगी की शाम गुजर जाए
नाम लेता रहूं बस में तेरा और जिंदगी तमाम गुजर जाए।।

10
तुझे रब से मांगा था मैने हर दुआ मै
शायद वही कबूल हुई है
तू जो आई है मेरी जिंदगी मै
तभी ये शामे हसीन हुई है।।

11
तुझसे ज्यादा कभी किसी पर ऐतबार ना किया
तुझसे ज्यादा वक्त मैंने कभी किसी को ना दिया
मेरी उदास शामो का भी हिस्सा है तू इस कदर
मैने मेरे दिल में तेरा मुकाम किसी को ना दिया।।

12
जब हम दोनों एक दूसरे के करीब आएंगे
ये चांद तारे भी आसमान में छुप जाएंगे
खो जाएंगे हम एक दूसरे मै इस कदर
गले से लगकर एक दूसरे के
ये शाम हंसी बनाएंगे।।

13
ये वक्त यूं ही ठहर जाए आज
ये लम्हा यही थम जाएं
देखें ले अगर तुझे भरकर
तो कत्लेआम हो जाए।।

14
ये हंसी रात तेरी बाहों में गुजर जाए
सोता रहूं तेरी गोद मे ओर सुबह हो जाएं
यादगार ये रात तेरे लिए सपना हो जाएं
मेरी जिंदगी मै खुशियों की बहार हो जाएं।।

15
तुझे देखूं हर पल तुझे सोचता रहूं
तेरी यादों को मै समेटता रहूं
तेरे दिल मै रहूं हमेशा
तेरी सांसों की धड़कनों को सुनता रहूं।।

16
मै अब तेरा हो चुका हूं, तुझमें ही बस चुका हूं
हर लम्हा तेरा ख्याल है जहन मै
इस कदर तेरी यादों मै खो चुका हूं।।

17
दिल ने तुझे अपना मान लिया है
तेरे हाथो मै हाथ मेरा है
भगवान ने भी आशीर्वाद दिया है
तेरे होने से है मेरी जिंदगी मै खुशियां
रब ने तेरे जैसा जीवनसाथी मुझे दिया है।।

18
तेरे साथ कोई हो ना हो, मै हमेशा साथ रहूंगा
जब छोड़ देंगे सब, तब भी याद रहूंगा
मेरी जिंदगी अब तेरे नाम हो चुकी मै
मै हवा बनकर हमेशा तेरे साथ बहुंगा।।

19
तेरे संग रहकर मैने जाना है
दिल मेरा क्यों दीवाना है
तू ही है मेरी जान
तेरे बिना ना ये कोई जमाना है।।

20
जब भी तन्हाई आए मुझे याद करना
हरपल रहूंगा साथ तेरे, मुझे दिल मै रखना
कभी भी ना निकलना मुझे खुद के जहन से
मुझे तन्हाइयो मै भी महसूस करना।।

21
तेरी हर अदा पर मुझे प्यार आता है
जब भी ना देखू तुझे तेरा ही ख्याल आता है
रातों में उठ जाता है डरकर मै
जब भी तूझसे दूर जाने का ख्याल आता है।।

22
दिल मै जो बसता है वो ख्याल हो तुम
मेरे लिए मेरी जां, लाजवाब हो तुम
तेरी मुस्कुराहट खुशी है मेरी
मेरे लिए मेरे सर का ताज हो तुम।।

23
हर लम्हा तेरे साथ जिया है
मैने तुझे हद से ज्यादा प्यार किया है
तेरी आंखों मै खो चुका हूं मै
इसलिए मैने इश्क का समंदर पिया है।।

24
मेरी शायरी की कलम हो तुम
मेरे जिंदगी मेरी सनम हो तुम
खिलती हुई कोई गुलाब की कली
पूर्णिमा मै चांदनी रात हो तुम।।

25
इश्क भी किया है इबादत भी किया है
मैंने मोहब्बत का हर जाम किया है
रहती है वह यादों में मेरे इस कदर
मैंने ख्वाबों में भी उसका नाम लिया है।।

26
मानकर तेरी चाहत को खुदा
हम तुझसे इश्क कर बैठे
खो गए तेरे प्यार मै हम
तुझसे बेपनहा मोहब्बत कर बैठे।।

27
कभी मिल मुझे ना भूलने वाली शाम की तरह
तुझे भर लू बाहों मै किसी चांद की तरह
लबो से लगा लू तुझे जाम की तरह
तू रहना मेरे साथ आसमान की तरह।।

28
मोहबब्त मै कभी तेरा मेरा नहीं देखा
मैने कभी तेरे बिना सवेरा नहीं देखा
जिंदगी मै हो जाए शाम
पर मैने तेरे बिन कभी जीने का नहीं सोचा।।

29
तेरे संग रहना है अब
हर लम्हा तेरे साथ ही बिताना है
जिंदगी रहे या ना रहे मेरी
तुझे हर खुशी दिलाना है।।

30
इश्क की वो मिसाल बन जाऊंगा
सात जन्मों तक तेरे साथ निभाऊंगा
दुनिया मै ना किया होगा किसी ने ऐसा इश्क
वो प्यार मै करके दिखलाऊंगा।।

31
तुझे सबसे ज्यादा लिखा है मैने
हर अहसास को जिया है मैने
रातों मै नहीं सोया हूं मै
बेपनाह इश्क किया है मैने तुम्हे।।

32
मै अब तुम्हारे बिना रह नहीं सकता
अकेला ये इश्क का जाम पी नहीं सकता
तुम भी शामिल हो जाओ मेरी मोहब्बत मै
मै अकेला तुम्हे प्यार कर नहीं सकता।।

33
तुझे पाकर मैने जिंदगी मै सब पा लिया
अब किसी चीज की ख्वाइश नहीं है
बस तुम साथ रहो हर दम मेरे
मुझे तो अब जीने की भी चाहत नहीं है।।

34
तुमसे है इश्क और तुमसे ही रहेगा
तुम्हारी जगह ओर कोई ले नहीं सकता
इस दिल की दुनिया बन चुके हो अब तुम
मै तुम्हारे बिना दुनिया मै रह नहीं सकता।।

35
तुमसे ही प्यार है, तुमसे ही इज़हार है
मुझे तेरी एक हां का इंतज़ार है
तू भी करेगी जिस दिन मुझसे प्यार
मुझे उस वक्त का इंतज़ार है।।

36
इक सबसे हंसी रात होगी
जहा सिर्फ हम दोनों की बात होगी
डूब जाएंगे हम एक दूसरे के प्यार मै
प्यार भरी मीठी सी तकरार होगी।।

37
ये रात बड़ी निराली है, सितारों से हमने दुनिया सजाई है
मेरा महबूब है मेरी बाहों मै, रात सुनहरी रोशनी बन आई है
चांद भी दे रहा है गवाही हमारी मोहब्बत की
हर ओर हमारे प्यार की अनोखी रंगत छाई है।।

38
उसके पैरो मे पायल पहनकर जब वो चलती है
मेरे दिल की धड़कन जोरो से धड़कती है
हर पल रहता है ख्याल उसका
मुझे उसकी कमी बहुत खलती है।।

39
हम दोनों करते रहे यू ही प्यार एक दूसरे से
कभी जुदा ना हो,,आए कितनी भी मुश्किल हमे
हम कभी एक दूसरे से खफा ना हो
साथ बना रहे हमारा, हम कभी ख़यालो मै भी जुदा ना हो।।

40
तेरी चाहत मै मुझे अब कुछ ख्याल नहीं रहता
भूख नहीं लगती मुझे, प्यास का पता नहीं रहता
मां कहती है सो जा बेटा अब रात हो गई है
वरना मुझे कभी दिन रात को पता नहीं रहता।।

41
इश्क की अब इंतहा हो गई
ये रात फिर से जंवा हो गई
हम आने लगे है एक दूसरे के करीब
ये राते फिर से नशीली हो गई।।

42
तेरे प्यार ने मुझे इस कदर बदल दिया है
अब किसी चीज का होश नहीं रहता
तू अगर नहीं रहती मेरे पास
तो मुझे खुद का भी पता नहीं रहता।।

43
मिलूंगा जब तुमसे तो तुम्हे कुछ तोहफा दूंगा
वो तुम्हारे लिए एक हंसी याद बन जाएगा
जी लेंगे हम दोनों उस लम्हे को
वो पल हमारे लिए यादगार बन जाएगा।।

44
तेरी यादें जहन मै बस चुकी है
तेरा नाम दिल पर लिख चुका है
अब इसे कोई मिटा नहीं सकता
हम दोनों रहंगे हमेशा करीब
हमारे बीच अब कोई आ नहीं सकता।।

45
कैसे समझाऊं तुम्हें अपनी चाहत का इशारा
अब ये दिल भी है शिद्दत से तुम्हारा
मै तो कब का हो चुका हूं तुम्हारा
इस दिल पर अब हक़ है तुम्हारा।।

46
मैने तेरे लिए मोहब्बत के अफसाने लिखे है
तेरी चाहतों के तराने लिखे है
हर लफ्ज़ मै तेरा ही ज़िक्र है
मैने तेरे लिए जिंदगी के सपने सुहाने लिखे है।।

47
जब हम दोनों मिले तो ये वक्त यू ही थम जाएं
रात का ये शमा महक जाएं
तेरी जुल्फों के तले सो जाऊं मै
ओर तेरी गोद मै ही सवेरा हो जाएं।।

48
हर तरफ शाम का पहरा हो,
तेरी जुल्फों का बदल गहरा हो
झील जैसी तेरी आंखों मै डूब जाऊं मै,
चांद जैसा कोई तेरा चहेरा हो
हर तरह से आए बस तेरी ही खुशब
आसमां मै चारों ओर बस सितारों का बसेरा हो।।

49
वक्त के साथ ये प्यार भी बढ़ता जाएगा
मेरे साथ बिताया हुआ हर लम्हा याद आएगा
जब भी करोगी तुम मुझे याद
हमेशा मेरा साया अहसास बनकर तुम्हारे पास आएगा।।

50
मेरे जीने की वजह मेरी मोहब्बत तुम ही हो
बस चुकी हो मेरे दिल की गहराइयों मै
मेरे बंदगी इबादत अब तुम ही हो
बस रहना हमसफर मेरे साथ तुम इसी तरह
मेरे जीने का सहारा अब तुम ही हो।।

51
हर कहानी का एक मोड़ आता है
जीवन मै कोई ना कोई जरुर आता है
तुम वेसी ही एक खूबसूरत मोड़ बनकर आईं हो
मेरी बंजर जिंदगी मै हरियाली बनकर छाई हो।।

52
तुम्हे किस्सों मै ढूंढा, पर तुम तो कहानियों का हिस्सा थे
मेरे दिल मै ना होकर भी, मेरी यादों का किस्सा थे
हवा के झोके की तरह आए मेरी जिंदगी मै
तुम वो मेरे किरदार का अहम हिस्सा थे।।

53
तुम बदल जाओगे पर हम कभी नहीं बदलेंगे
तुम्हारी जिंदगी का हिस्सा हमेशा रहेंगे
तुम पहले भी जान थे हमारी
अब हम, हमसफर बनकर रहेंगे।।

54
मेरी हर मंजिल तुझ तक आकर रुक जाती है
तू रूह का सुकून लगता है
कोई हो या ना हो मेरे पास
तू मुझे हमेशा मेरे आसपास लगता है।।

55
पंछी की तरह खुले आसमान मै उड़ना है
हमे तो इस पूरे जहां को छूना है
तेरे संग रहकर हमसफर
हमे हर मंजिल पर साथ साथ चलना है।।

56
तेरे कदम से कदम मिलाकर चलूंगा
कभी को गिरी तुम, तो हाथ थामकर चलूंगा
मेरे उम्मीद का सवेरा हो तुम
तुम्हे ही अपनी किस्मत मानकर चलूंगा।।

57
तुझे मैने कभी मेरे ख्यालों से जुदा नहीं किया
मोहब्बत बहुत की पर कभी दगा नहीं किया
तूने भी साथ दिया मेरा इस सफर मै
कभी अपना हाथ किनारे नहीं किया।।

58
हमे नहीं मालूम था इश्क के बारे मै
बस एक तुम मिले और जिंदगी मोहब्बत हो गई।।

59
तुम्हारा मेरी जिंदगी मै आना
ओर सांसों मै इस कदर बस जाना
बहुत अच्छा लगता है
तुम्हारे साथ बिताया हर पल सुहाना।।

60
कभी तुम आओगी पनघट पर पानी भरने
तुम्हे अपने हाथो से पायल पहनाऊंगा
चूमकर तुम्हारे हाथो को लबों से
तुम्हे अपने सीने से लगाऊंगा।।

61
मैने देखे है मौसम कई
तुम्हे हर मौसम मै मैने चाय की तरह चाहा है।।

62
तुझे देखने का जुनून हर वक्त छाया रहता है
दिमाग में बनती है तेरी तस्वीर
दिल मै तेरा साया रहता है
एहसासों की कश्ती मै
एक नदी का किनारा रहता है।।

63
अक्सर तेरी तस्वीर से बाते कर लिया करते है
वो तेरी तरह नहीं बोलती तो क्या हुआ
हम उससे अक्सर तेरे जिक्र कर लिया करते है।।

64
सुबह शाम तेरी यादे
नदी का किनार बस तेरा सहारा
तेरा सर मेरे कंधे पर डूबता हुआ सूरज
वो शाम का नजारा
गले से लगकर तेरे, वही उन्हीं पलो मै खों जाना
यही होता है दो दिलो को अफसाना।।

65
सुबह उठकर तेरा ही चहेरा देखूं
चूम लूं गालो को प्यार से
तेरी ही मुखड़ा देखूं
लगाकर सीने से तुझे जी भरकर प्यार से देखूं।।

66
समझ भी नहीं आता पता भी नहीं चलता
ये मुझे क्या हो गया है, प्यार कहूं या इश्क
जो मुझे अब तुझसे हो गया है।।

67
तू मुझसे जुदा कहा होता है
हर वक्त मेरे पास होता है
साथ ना रहा तो क्या हुआ
ख्यालों मै हमेशा मेरे पास होता है।।

68
तेरे प्यार मै इस कदर खोना चाहता हूं
मै बस तेरा होना चाहता हूं
लिखकर नाम तेरा अपने दिल पर
तुझे गले लगाकर सोना चाहता हूं।।

69
सर्दियों की जब सुनहरी धूप खिल जाती हूं
तू जब आकर मेरे सीने से लग जाती है
जकड़ कर मुझे अपनी बांहों में
जब तू अपना प्यार जताती है।।

70
जन्म जन्म का साथ है अपना
हर जन्म मै मिल जाएंगे
दूर ना होंगे कभी एक दूसरे से
हम यूं ही हमेशा प्यार निभाएंगे।।

71
सजती संवरती है जब तू कमाल लगती है
मुझे हर रूप मै तू प्यारी लगती है
तेरे बिना कुछ नहीं मेरा
तू मुझे महकता हुआ गुलाब लगती है।।

72
लगती हो परी कोई जैसे जन्नत से उतर आईं हो
रंग रूप ऐसा बहारो को साथ लाई हो
अब होता नहीं इंतज़ार मुझसे
मेरे तकदीर मै नया सवेरा बनकर आईं हो।।

73
एक शाम जब तुम मुझसे मिलने आओगी
तुम्हे कुछ बोलने नहीं दूंगा
होठो से लगाकर होठो
तुम्हारी ने जुबां खुलने नहीं दूंगा।।

74
जब कलम मेरी चलती है
तुम ही मेरे लफ्जो मै उतरती हो
मै कुछ नहीं तुम्हारे बिना
अगर तुम मेरे साथ नहीं चलती हो।।

75
मेरे हमसफर मेरे हमदम मै हर पल तेरे साथ हूं
तुम बसता है मेरे दिल मै, मै आखिर सांस तक साथ हूं
तेरी चाहत ही खीच लाती है मुझे अपनी ओर
मै तो हर बुरे अच्छे वक्त मै साथ हूं।।

76
तुझे देखकर भी मेरा जी नहीं भरता
मुझ पर असर अब कुछ नहीं करता
तू ही रहती है मेरे दिल में हमेशा
मैं अब किसी पर ऐतबार नहीं करता।।

77
दिल की बातों को आज जुबा से कहना है
प्यार करके तुझे, तेरे ही दिल में रहना है
मै करता है इबादत तेरी रब से
मुझे हवा बनकर तेरे साथ ही रहना है।।

78
ये जो हवा चल रही तेरे ही शहर से आई होगी
तेरे गालो को छूकर आई होगी
मेरे लिए भेजा होगा तूने कोई पैगाम
जो ये अपने साथ लाई होगी।।

79
इश्क़ का कबूतर अब उड़ चला है
ये तेरी छत पर आकर हूं रुकेगा
मैने भेजा है अपने प्यार का खत
वो तुझे आज ये देकर ही रहेगा।।

80
मेरे हिस्से मै जिंदगी बहुत कम आती है
जी लेता हूं उतना ही जितनी आस आती है
तेरे आने से दिल मै एक नई उम्मीद जगी है
मेरे उजड़े उपवन मै फिर से बहार आती है।।

81
तुझे हर जगह महुसुस करना क्या प्यार नहीं है
तेरे होने का अहसास होना क्या प्यार नहीं है
मेरी रात से पूछो कितना किया है मैने इंताजर तुम्हारा
ये दिन कहता है कि मुझे प्यार नहीं है।।

82
दूर रहकर भी हमने तुझसे इस कदर प्यार किया है
जैसे नदियां ने समुंदर से मिलन का ऐतबार किया है।।

83
हसरतें बड़ रही है अब तेरे करीब आने की
मुझे प्यार होने लगा है, मिलने लगे है दो दिल
अब ऐतबार होने लगा है, हर तरफ छाई है
फूलों की खुशबू, दुनिया वाले कहते हैं
मुझे अब प्यार होने लगा है।।

84
झूठ बोलकर तेरे से मिलना
फिर ढेर सारी बाते करना
बेवजह तेरा हंसकर मेरे गले लग जाना
कितना एहसासों भरा है वो पल सुहाना।।

85
इश्क़ ही किया है हमने तो
कभी कुछ चाहा नहीं है
पाकर तुझे हमने
खुदा से अब कुछ मांगा नहीं है।।

86
जब तू किसी दिन मेरे करीब आएगी
मेरे क्या हाल ही जाएगा
छू लूंगा तेरे भीगे होंठों को
मुझे तेरे होने का अहसास हो जाएगा।।

87
मुझे तुम याद नहीं आते
तुम मुझे याद हो गए है
करके मेरी जिंदगी को जन्नत
मेरी खुदा से फरियाद हो गए हो।।

88
घंटो तक बैठकर बस तेरी ही बाते सुनता रहूं
दिल से यही आरजू रहती है,
तू मुस्कुराए और मै तुझे देखूं
बस यही आरजू रहती है।।

89
चांद भी शर्मा जाता है
जब तेरा मुखड़ा मेरे प्यार मै लाल हो जाता है
गुलाबी गालों को देखकर तेरे
ये पतझड़ मौसम भी रंगत से भर जाता है।।

90
तुझे हक़ है मुझसे रूठने का
मै तुझे माना भी लूंगा
गर ना मानी तू ऐसे
लगाकर सीने से तुझे प्यार भी कर लूंगा।।

91
सर्दी को मौसम भी बड़ा बईमान है
तेरी ही याद दिला रहा है
आकर बैठ तू करीब मेरे
ये मौसम मुझे बड़ा सता रहा है।।

92
तेरा ही नाम लेकर मै जिंदगी तमाम गुजार दी
रहकर तेरे पास ही तुझे प्यार का जाम से
कभी नहीं जाऊंगा तुझे छोड़कर मै
मै तुझे वो जन्म भर का अहसास दू।।

93
हवा भी ना गुजार पाएं करीब से
तुझे इस कदर गले लगाना है
सिमटकर तेरी बांहों में
मुझे यूं ही रात गुजारना है।।

94
मेरे दिल मै प्यार सिर्फ तेरे लिए है
ये ऐतबार सिर्फ तेरे लिए है
नहीं है किसी की कोई जगह यहां
ये बाहों का संसार सिर्फ तेरे लिए है।।

95
प्यार कि कश्ती को किनारे लगाना है
चल मांझी मुझे दूजे छोर जाना है
कर रही है वो इंतज़ार मेरा वहां
मुझे जाकर उसे अब गले लगाना है।।

96
प्यार है इस कदर मुझे
अब कुछ होश नहीं रहता
हर पल तुमसे मिलने की आस रहती है
अब इस दिल मै और कोई नहीं रहता।।

97
यूं ना सताया कर मुझे चाय के आखिरी घूंट कि तरह
तू मिल मुझे बनारस की कहानी की तरह।।

98
हाथ में तेरा हाथ ले कर मुझे चलना है
जमाने से दूर कई ओर चलना है
जहां हो सिर तेरा मेरा साया
मुझे तेरे साथ किसी ऐसी जगह पर चलना है।।

99
लिखा है जो इश्क़ मैने तेरे नाम का
अब मेरी डायरी के पन्ने भी भर गए
हर सदा लिख दी तेरे नाम की उसमे
अब मेरे लफ्ज़ भी प्यार का इजहार करके थक गए।।

100
तेरे कंधे पर मेरा सर हो
ओर एक मीठी नींद सोना चाहता हूं
तो रहे या, ना रहे मेरा, मै बस तेरा होकर रहना चाहता हूं।।

101
जब तेरा साथ हो हर कठिन रस्ता आसान लगता है
मै चल लेता हूं कांटो पर भी जब तेरा साया साथ चलता है।।

102
जब इस जिंदगी की शाम हो जाएगी
तब भी तुझे सीने से लगाकर रखूंगा
मै नहीं जाने दूंगा कभी तुझे
हमेशा दिल मै बसाकर रखूंगा।।

103
तेरा हाथ पकड़कर चलना अच्छा लगता है
मुझे तेरे संग रहना अच्छा लगता है
प्यार से देखता रहूं बस तुझे ही मै
मुझे तेरा हर सपना अच्छा लगता है।।

104
बेशक मुझे चाय पसंद है
पर तेरे लबों से पीना चाहता हूं
मै करके तेरा इकरार
जन्मों तक साथ बिताना चाहता हूं।।

105
हर जगह तेरे संग सफर तय किया है
अब मुझे कई ओर चलना है
पकड़कर तेरा हाथ हमेशा के लिए
मुझे केदारनाथ की सीढ़ियां चढ़ना है।।

106
बारिश की बूंदे बनकर बरस रहा है तेरा इश्क
इस सावन मै प्यार बनकर बरस रहा है तेरा इश्क़
आकर गले लग जाओगी यही ख्वाहिश है मेरी
सीने मै तूफान से उठ रहा है तेरा इश्क।।

107
तेरे सजदे में सर झुखाऊंगा
तेरे लिए हर हद से गुजर जाऊंगा
तू नहीं रही मेरे पास अगर
मै जीते जी मर जाऊंगा।।

108
आऊंगा एक दिन तेरे घर बारात लेकर
तू बस तैयार रहना,,
ले जाऊंगा तुझे अपने संग मै मेरे घर
तू बस दुल्हन बन तैयार रहना।।

109
तेरी तड़प बता रही है तूने भी बेइंतहा इश्क़ किया है
मुझे प्यार का जन्नत भरा तोहफा दिया है
लगाना चाहती है तू भी मेरे सीने से
तूने भी मेरे प्यार का अहसास किया है।।

110
तू रहे साथ मेरे अगर
मैं वक्त से जीने की थोड़ी और मोहलत मांग लो
बैठी रहे तू मेरे पास यूं ही हमेशा
मैं तेरे लिए खुदा से पूरे जहां की खुशियां मांग लू।।

111
तू ही पहला और आखिरी प्यार है मेरा
तू ही सदियों का इंतजार है मेरा
पिछले जन्म से नाता है कोई तुझसे
हर जन्म का तू इश्क है मेरा।।

112
तेरी बंदगी करूं या खुदा से इबादत करूं
तुझे मांग लूं किसी दुआ में या तेरे लिए प्रार्थना करूं
तेरी खुशियों से बढ़कर कुछ नहीं मेरे लिए
बता तेरी खुशियों के लिए मैं क्या करूं।।

113
तू ना रहेगी तो इस दिल का कोई सहारा ना होगा
कश्ती तो होगी मगर कोई किनारा ना होगा
तेरे इश्क में जी रहा हूं मैं अब तक
फिर मुझे यह जीवन भी गवारा ना होगा।।

114
तेरे जागने का इंतजार करता हूं मैं
उसी इंतजार में सोता नहीं हूं मैं
खयाल तेरे मुझे, तुझसे जुदा नहीं होने देते
सपनों में भी तेरी यादों में खोया रहता हूं मैं।।

115
ये जहां कितना भी खूबसूरत हो
तुझसे ज्यादा नहीं हो सकता
तू तो जन्नत की हूर है
पर यह कभी आसमा नहीं हो सकता।।

116
यही इबादत में बार-बार मांग लूं
हर जन्म में साथ मिले तेरा यह फरियाद मांग लू
कभी ना चाहूं मैं खुदा से और कुछ
बस हर जन्म में तेरा हाथ मांग लूं।।

117
जिस दिन तू मेरे घर आएगी
खुशियां उस दिन अपना रंग दिखाएगी
फूल भी खिल उठेंगे तेरे आने से
बागों में फिर से नहीं कलियां आएंगी।।

118
तेरे मेरे प्यार को किसी की नजर ना लग जाए
तेरा प्यार मुझे हर बुरी बला से बचाए
जब तू साथ रहे मेरे हर दम साया बनकर
तो कोई भी मेरा कुछ ना बिगाड़ पाए।।

119
तेरे प्यार ने मुझे बंजारा बना दिया
इंसान तो पहले आशिक बना दिया
अब तेरे बिना एक पल भी गुजारा नहीं होता
मुझे तूने प्यार में इस कदर पागल बना दिया।।

120
यह मोहब्बत आसान नहीं होती
इसे निभाना पड़ता है
जख्म चाहे लग जाए सीने पर
पर फिर भी दिल लगाना पड़ता है।।

121
दूर जो आसमान में चांद दिख रहा है
वो भी हमारे प्यार की गवाही दे रहा है
चांदनी रात ये देखो कितनी सुंदर है
चांद तारे भी हमारे प्यार की बलाए ले रहा है।।

122
इश्क़ इस कदर करना है तुझसे
तू सब कुछ भूल जाएगी
मै हू याद आऊंगा तुझे हर पल
तू अपने आप को भी भूल जाएगी।।

123
क्यों इतना तड़पा रहे हो मुझे
मेरे पास आ क्यों नहीं जाते
करते हो मुझसे बेपनाह मोहब्बत
तो फिर इजहार क्यों नहीं कर पाते।।

124
अब तो मैं भी खोई-खोई सी रहती हूं
मैं भी तुझे हर पल सोचती हूं
किसी से नहीं मिलती आजकल में
बस तेरे खयालों को सोचती हूं।।

125
तुम पूछती हो मुझसे कि मुझे क्या हुआ है
कैसे बताऊं तुम्हें कि मुझे तुमसे इश्क हुआ है।।

126
तेरी चाहत में खुद को भूल बैठा
मैं अपने घर का पता भी भूल बैठा
आकर लग गई जब तू मेरे सीने से
मैं अपने होशो हवास को बैठा।।

127
तुझे चाहने के अलावा कोई काम ना रहा
तेरे दिल के सिवा मेरा अब कोई मुकाम ना रहा
छुपा कर रख ली मेरी चाहत को अपने दिल में
मेरी मोहब्बत को अब किसी का सहारा ना रहा।।

128
मैंने जो देख रहा था सपना एक दिन की तेरे साथ रहूंगा
वो आज इस कदर सच हो जाएगा, मैंने सोचा न था
तू आएगी मेरे घर मेरी दुल्हन बन कर
मैंने ये कभी सोचा ना था।।

129
ख्वाहिश नहीं कि मैंने कभी किसी बात की
मैंने तो बस तुमसे मोहब्बत की है
तेरी चाहत को खुदा मान कर
मैंने बस उसकी इबादत की है।।

130
जब रूह में उतर जाता है बेपनाह इश्क का समंदर
लोग जिंदा नहीं होते फिर किसी के भी अंदर
वह बस रहते हैं अपने महबूब की यादों में
इश्क करते हैं बेपनाह उससे, बनकर मोहब्बत का समंदर।।

131
रिश्ता हमारा सबसे बढ़कर खास होता है
इसीलिए तो गम भी हमसे उदास होता है
खुशियां आती है हमारे द्वार पर
जब एक दूजे का साथ होता है।।

132
इश्क़ की आब सुहानी हो तो मेरी
देखा करता था जिसे ख्वाबों में,
वो रानी हो तुम मेरी
मेरे इश्क की लाजवाब कहानी हो तुम मेरी।।

133
बारिश का मौसम हो
और सड़क पर हम अकेले हो
गिरती रहे पानी की बूंदे हमारे ऊपर
हम भीगे और पूरे गीले हो
चूम लूं मै तुम्हारे होठों को फिर
वह रात पूरी नशीली हो।।

134
जो तुझसे था वह तुझसे ही रहेगा
वो इश्क़ किसी और से ना होगा
जब तू रहती है मेरे दिल में हमेशा
तो मुझे प्यार कभी किसी और से ना होगा।।

135
इश्क का कोई मोल नहीं होता
चाहतों को नाप सके ऐसा कोई तोल नहीं होता
यह प्यार है मेरी जां
इसमें कभी कोई मोल भाव नहीं होता।।

136
सुबह उठकर तेरा चेहरा देखूं
फिर तेरे सर को अपने होठों से चूम लू
जब लोगी तुम अंगड़ाई फिर से
मैं तुम्हें उसी वक्त बाहों में समेट लूं।।

137
ये कितनी हसीन रात है
ऐसा मंजर फिर दोबारा कभी ना आएगा
तू है मेरी बाहों में आज
इश्क़ का ये समंदर फिर कभी दोबारा ना आएगा।।

138
मेरे सीने से लग जाए
मैं भी तुझसे लिपटकर यूं ही सो जाऊं
हाथ मैं हाथ देकर
तेरी बाहों में ही सो जाऊं।।

139
मैं तेरे सीने से लग कर सोना चाहती हूं
उठे जब तू तो तुझे लबों से लगाना चाहती हूं
मेरे प्यार की कोई इंतहा नहीं है
मैं तुझे इस कदर बेपनाह चाहती हूं।।

140
मैंने भी तुझसे इश्क बेपनाह ही किया है
मोहब्बत के नाम पर कभी धोखा नहीं दिया है
दिल और दिमाग में बस तू ही है मेरे
मैंने ख्यालों में भी तेरा नाम लिया है।।

141
जरा पास आकर बैठा सर्दी बहुत है
मुझे लगा ले सीने से तुझ में गर्मी बहुत है
छुप जाऊं मैं तेरे सीने में इस कदर
कोई ना देख पाए कि तेरे दिल मै कौन है।।

142
हमें भी हमने किसी और का चेहरा नहीं देखा
जबसे तूझसे मोहब्बत हुई है
हमने किसी ओर को नजर उठाकर नहीं देखा।।

143
तेरी पायल की झनकार को आठो धाम लिखता हूं
कोई पूछे मुझसे इश्क़ के बारे मै,
मै बस तेरा ही नाम लिखता हूं।।

144
जब भी तू बुलाएगी मै दौड़ा चला आऊंगा
तुझे ना कभी मै सताऊंगा
हर पल रहूंगा तेरे साथ
ये प्यार का रिश्ता ढलती उम्र तक निभाऊंगा।।

145
जब है तू मेरे साथ, तो मुझे किस बात का डर है
तेरे साथ लगती हर पेरशानी मुझे
आसान डगर है।।

146
भीगी जुल्फों लेकर जब मेरे पास आती हो
प्यार से मुझे जब गले लगाती हो
मै निहारता हूं तुम्हारी खूबसूरती को
तुम मुझे अपने नेनो से मारती हो।।

147
तेरा हर अदा लाजवाब है
आंखो का क्या कहूं, वो तो खुद एक ख्वाब है।।

148
डूब जाएं कोई भी तेरी झील सी आंखों में
उनमें गहराई वो खास है
तेरे इश्क़ की बात निराली है
मै खुशनसीब हूं जो तू मेरे पास है।।

149
मोहब्बत भी की है, इजहार भी किया है
मैने सबसे ज्यादा तुझ पर ऐतबार भी किया है।।

150
मेरे हर शायरी मै तेरा ही ज़िक्र आता है
जब तू इस कदर मेरे करीब आता है
भूल जाता हूं मै सब कुछ, मेरी जां
जब तेरे प्यार का अहसास मुझे तेरे करीब लाता है।।

Final words

So friends these are the very best love romantic shayari in Hindi. If you really like this shayari collection then please take some time and do share with your boyfriend and girlfriend and they will really like it.

Also please give 1 like and share this on WhatsApp and Facebook. This will really encourage us to keep improving this post thank you friends.

Leave a Comment

Your email address will not be published.